जजरी क्षेत्र की महिला की दोनों किडनियां खराब

पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद की दरकरार

0
6762

एसके शर्मा। बड़सर

उपमंडल के तहत आने वाली ग्राम पंचायत जजरी के गांव की सुषमा देवी 33 वर्षीय पत्नी कमलेश कुमार (नीटू) की दोनों किडनियां खराब हो चुकी है। पीड़ित परिवार पर मुश्वितों का पहाड़ टूट पड़ा है। पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद की दरकरार है। पीड़ित परिवार ने दानी सज्जनों से अपील की है कि वे मदद को हाथ बढाए ताकि उसका ईलाज करवा सकें। पीड़िता के पति कमलेश कुमार ने प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन से भी मदद की गुहार लगाई है। बताते चलें कि सुषमा देवी गांव जजरी त. बड़सर निवासी एक गरीब परिवार से संबध रखती है। परिवार उसका इलाज करवाने में असमर्थ है। पीड़िता सुषमा देवी के पति एक निजी स्कूल में पढ़ाते हैं। वे घर का पालन पोषण बड़ी मुश्किल से कर रहे हैं। सुषमा देवी के दो छोटे बेटे हैं व स्कूल में जजरी स्कूल में पढ़ाई कर रहे हैं।

सुषमा देवी के पति कमलेश कुमार ने बताया कि सुषमा देवी विगत जून माह में पेट में दर्द हुआ, तो उसे वे हमीरपुर जिला अस्पताल ले गए। वहां पर सुषमा के टेस्ट हुए, तो पत्ता चला कि उसकी दोनों किडनियां खराब हो चुकी है। हमीरपुर अस्पताल से उसे आईजीएमसी शिमला रैफर कर दिया गया। जहां पर उसका डालसिंस किया गया। शिमला अस्पताल में किडनी डयूनर न मिलने के कारण उसे पीजीआई चंड़ीगढ़ रैफर कर दिया गया है। कमलेश कुमार ने कहा कि उसकी गुरदे की पथरी का ऑप्रेशन होने के कारण उन्हें किडनी लेने से मना कर दिया है। अब कोई भी रिश्तेदारों में कोई भी किडनी डयूनर नहीं होने के कारण शिमला में सुषमा देवी का किडनी ट्रांसपलांट न हो सका। सुष्मा देवी की दवाई व अन्य टेस्टों को करवाने में काफी खर्चा हो चुका है।

हांलाकि पीड़ित परिवार ने हिमकेयर कार्ड भी बना रखा है। लेकिन उसका खर्चा तभी मिलता है जब मरीज अस्पताल में दाखिल हो। कमलेश कुमार ने बताया कि किडनी ट्रांसपलांट करवाने के लिए लाखों रूपए खर्च आएगा, जिसको वे खर्च करने में असमर्थ है। उन्होंने कहा कि पीजीआई के डाक्टरों ने कहा कि अगर जल्दी ही किडनी ट्रांसपलांट नहीं की गई तो सुष्मा देवी हालत खराब हो सकती है। उन्होंने दानी सज्जनों वे किडनी डयूनर से अपील की है कि अगर कोई किडनी डयूनर करना चाहता है तो वे आगे आए और हमारी सहायता करें। पीडि़त परिवार ने प्रदेश सरकार व दानी सज्जनों से आग्रह किया है कि वे मदद को हाथ बढ़ाए ताकि वे पीडि़ता का ईलाज समय रहते करवा सकें। उन्होंने कहा कि अगर कोई दानी सज्जन मदद करना चाहता है, तो वह सुषमा देवी के खाता नंबर 88541700004537 व आईएफसी कोड पीयूएनबीओएचपीजीबी04 है ये खात ग्रामीण बैंक जजरी में है। दानी सज्जन मों. नं.9418823253 और 8091721438 पर भी संपर्क कर सकते हैं।