मोदी की तरह मेरा भी रहा है हिमाचल से जुड़ाव : गोयल

0
59

सचिन चाैधरी। धर्मशाला

पीयूष गोयल ने कहा कि मौसम की खराबी की एडवायजरी की वजह से केंद्रीय मंत्री अमित शाह के नहीं आ पाने पर खेद जताया और उनकी उनकी तरफ से हिमाचल के लोगों और निवेषकों को बधाई दी। गोयल ने कहा कि मेरा भी मोदी की तरह हिमाचल से जुड़ाव रहा है। कहा कि मेरे दादी हिमाचल के सुबाथू से थीं, इस नाते मेरा भी हिमाचल से करीबी रिश्ता हुआ।

गोयल ने कहा कि हिमाचल को अटल जैसे बड़े नेता का स्नेह मिला है और अब प्रधानमंत्री मोदी भी हिमाचल को अपना घर मानते गई। गोयल ने कहा कि इस प्रदेश ने देश और दुनिया को कई मायनों में सबक दिया है और अब समय आज्ञा है की हिमाचल को प्रगतिके तेज़ी से आगे ले जाया जाए। उन्हाेंने कहा कि 93 हज़ार करोड़ के एमओयू इस मीट के भीतर होना सबसे बड़ी उपलब्धि है। हिमाचल जल्द ही पूरी तरह से खुले में शौच मुक्त होने जा रहा है।

सर्वे में हिमाचल कई क्षेत्रों में आगे रहना भी यहां विकास और उन्नति का संकेत है। गोयल ने कहा कि 10 मुख्य सिद्धान्तों पर  देश और प्रदेश की सरकार काम कर रही है। गोयल ने कहा कि दुनिया भर में भारत ने मनी लॉन्ड्रिंग क्षेत्र में बड़ी भूमिका निभाई है। भारत ने अपने किसान बागवानों के हितों को धयन में रखते हुए हाल ही में RCEP की संधि से अपने को अलग कर जेल साहसिक कदम बताया।

उन्हाेंने कहा कि16 देशों के इस अग्रीमेंट ने देश को बचाने के लिए ज़रूरी बताया, जिससे देश के छोटे उद्योग धंधों, देरी फार्म, कृषि बागवानों, अनाप-शनाप आयात से रोकना ज़रूरी बताया। आज पूरा देश मोदी के इस निर्णय  का स्वागत करता है और बधाई देता है। ये कदम देश की ताकत और अपनों की सुरक्षा के लिए किए जाने वाले प्रयसों का भी परिचायक है। गोवा के पास अगर अच्छी बीचेज है, तो हिमाचल के पास सूंदर पहाढ़ पर्वत और नदियां देव भूमि को महान प्रदेश बनाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here